News

Iran Vowed To Take Revenge From Israel On The Killing Of Its Top General In Syria, This Is How The Attack Happened – सीरिया में अपने टॉप जनरल की हत्या पर ईरान ने इजरायल से बदला लेने की कमस खाई, यूं हुआ हमला

तेहरान, ईरान:

सीरिया में इजरायली हमले में सोमवार को ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड के एक वरिष्ठ जनरल की मौत हो गई. तेहरान ने इजरायल को “इस अपराध के लिए भुगतान करने” की कसम खाई है. एएफपी के अनुसार, ईरान की मीडिया ने भी रजी मौसवी की मौत की सूचना दी है और उन्हें इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड कॉर्प्स (आईआरजीसी) की विदेशी शाखा कुर्द फोर्स के सबसे अनुभवी सलाहकारों में से एक बताया.

यह भी पढ़ें

ईरान के राष्ट्रपति ने यह कहा

इजरायल की ओर से इस मामले पर तत्काल कोई टिप्पणी नहीं आई है. हालांकि, उसने बार-बार कहा है कि वह ईरान को सीरिया में अपनी उपस्थिति का विस्तार करने की अनुमति नहीं देगा. ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी ने मौसवी की मौत पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि इजरायल को इस अपराध के लिए निश्चित रूप से भुगतान करना होगा. आधिकारिक समाचार एजेंसी आईआरएनए ने सीरियाई राजधानी के दक्षिण में सैय्यदा जेनब के लिए एक अलग नाम का उपयोग करते हुए बताया, “कुछ घंटे पहले दमिश्क के उपनगरीय इलाके में जिनाबियाह जिले में जायोनी शासन के हमले के दौरान जनरल की मौत हो गई थी.”

कुर्द फोर्स के सबसे वरिष्ठ जनरल थे

आईआरएनए ने तेहरान समर्थित और इजरायल के खिलाफ संगठित समूहों का जिक्र करते हुए कहा, “मौसवी सीरिया में प्रतिरोध की धुरी को साजो-सामान संबंधी सहायता प्रदान करने के क्षेत्र में सक्रिय थे.” आईआरजीसी ने एक बयान में कहा कि मौसवी एक “मिसाइल हमले” में मारे गए और उसने उनकी मौत का बदला लेने की भी कसम खाई है. बयान में कहा गया है कि मौसवी ईरान के सम्मानित कुर्द कमांडर जनरल कासिम सुलेमानी के सहयोगी थे, जो 2020 में अमेरिकी ड्रोन हमले में बगदाद में मारे गए. अगले सप्ताह ईरान सुलेमानी की हत्या की चौथी बरसी मनाएगा और मौसवी तब से मारे गए कुर्द फोर्स के सबसे वरिष्ठ जनरल थे.

ऐसे पता चला

ईरान के सरकारी टीवी ने कहा कि मौसवी को “तीन मिसाइलों” से निशाना बनाया गया और हमले वाले क्षेत्र से धुआं उठता फुटेज प्रसारित किया. ब्रिटेन स्थित मॉनिटर, सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स ने सैय्यदा ज़ैनब क्षेत्र में ईरानी समूहों और लेबनान के शक्तिशाली तेहरान-गठबंधन हिजबुल्लाह द्वारा इस्तेमाल किए गए स्थानों पर इजरायली हमलों की सूचना दी. निवासियों ने जोरदार विस्फोटों की आवाज सुनने और क्षेत्र के खेतों से धुएं के गुबार उठते हुए देखने की सूचना दी. 2011 में सीरिया का गृहयुद्ध शुरू होने के बाद से, इजराइल ने अपने उत्तरी पड़ोसी पर सैकड़ों हवाई हमले किए हैं. मुख्य रूप से ईरान समर्थित बलों और हिजबुल्लाह लड़ाकों के साथ-साथ सीरियाई सेना की चौकियों को निशाना बनाया है.

इसलिए कर रहा हमला

2 दिसंबर को, आईआरजीसी ने इजरायल पर सीरिया में अपने दो सदस्यों की हत्या करने का आरोप लगाया. इस आईआरजीसी ने बिना अधिक विवरण दिए कहा कि दोनों एक सलाहकार मिशन पर थे. इजराइल सीरिया में कथित हमलों पर शायद ही कभी टिप्पणी करता है. मगर फिलिस्तीनी समूह के 7 अक्टूबर के हमलों के कारण ईरान समर्थित हमास के खिलाफ युद्ध शुरू होने के बाद से वहां विशेष रूप से हिजबुल्लाह के खिलाफ हमले तेज कर दिए हैं.

 


Source link

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

पिछले साल रिलीज़ हुयी कुछ बेहतरीन फिल्मे जिनको जरूर देखना चाहिए | Best Movies 2022 Bollywood इस राज्य में क्यों नहीं रिलीज़ हुयी AVTAR 2 QATAR VS ECUADOR : FIFA WORLD CUP 2022 Fifa world cup 2022 Qatar | Teams, Matches , Schedule This halloween hollywood scare you with thses movies