News

Tejashwis Counter Attack On Amit Shah Why Is The Center Itself Not Conducting The Caste Census – अगर बिहार सरकार के आंकड़ों में गलती है तो केंद्र क्यों नहीं स्वयं जातिगत गणना करवा रही है? : अमित शाह पर तेजस्वी का पलटवार

[ad_1]

खास बातें

  • अमित शाह पर तेजस्वी यादव का पलटवार
  • अमित शाह ने जातिगत जनगणना के आंकड़ों पर उठाया सवाल
  • तेजस्वी ने केंद्र से जातिगत गणना की मांग की

पटना:

जातिगत जनगणना के आंकड़ों को लेकर बीजेपी और आरजेडी के बीच आरोप प्रत्यारोप देखने को मिल रहा है. बीजेपी नेता और गृहमंत्री अमित शाह ( Amit Shah) ने रविवार को बिहार में एक सभा को संबोधित करते हुए नीतीश सरकार के जातिगत आंकड़ों पर सवाल खड़ा किया और उन्होंने कहा कि मुस्लिमों और यादवों की आबादी को बढ़ाकर दिखाया गया है. अमित शाह के बयान पर अब उपमुख्यमत्री और राजद नेता तेजस्वी यादव ने पलटवार किया है. तेजस्वी यादव ने कहा है कि अगर बिहार के जातीय सर्वे के आंकड़े गलत है तो केंद्र सरकार पूरे देश और सभी राज्यों में जातीय गणना करा अपने आंकड़े जारी क्यों नहीं करती?

यह भी पढ़ें

तेजस्वी यादव ने सवाल उठाया कि बीजेपी शासित राज्यों में BJP जातिगत गणना क्यों नहीं कराती?केंद्र सरकार में कितने 𝐎𝐁𝐂/𝐒𝐂/𝐒𝐓 कैबिनेट मंत्री है और कितने गैर 𝐎𝐁𝐂/𝐒𝐂/𝐒𝐓? सूची जारी करें। खानापूर्ति के लिए इक्का-दुक्का मंत्री है भी तो उन्हें गैर-महत्त्वपूर्ण विभाग क्यों दिया हुआ है?BJP के कितने मुख्यमंत्री 𝐎𝐁𝐂/𝐒𝐂/𝐒𝐓 है? पिछड़ा और गैर-पिछड़ा मुख्यमंत्री का तुलनात्मक प्रतिशत बताएँ? तेजस्वी यादव ने एक्स पर लिखा कि  BJP के बिहार से केंद्र में कितने पिछड़ा और अतिपिछड़ा कैबिनेट मंत्री हैं? जवाब जीरो है?जवाब देंगे, तो आपके साथ-साथ हिंदुओं की 𝟖𝟓%  पिछड़ा और दलित आबादी की भी आंखें खुल जाएंगी. 

अमित शाह ने क्या कहा था?  

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बिहार की नीतीश कुमार सरकार पर जाति आधारित सर्वेक्षण में जानबूझकर मुस्लिमों और यादवों की आबादी बढ़ाकर दिखाने का रविवार को आरोप लगाते हुए इसे ‘तुष्टिकरण की राजनीति’ का हिस्सा बताया.मुजफ्फरपुर के पताही में पार्टी की एक रैली को संबोधित करते हुए शाह ने कहा, ‘‘बिहार में जाति सर्वेक्षण कराने का निर्णय तब लिया गया था जब नीतीश कुमार राजग (राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन) का हिस्सा थे.”

ये भी पढ़ें- :



[ad_2]

Source link

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *